अब ‘जीनोमपत्री’ से रखा जाएगा आपकी सेहत का ख्याल


अब ‘जीनोमपत्री’ से रखा जाएगा आपकी सेहत का ख्याल

अब देश में पहली बार मरीजों की DNA-आधारित टेस्ट तक सीधी पहुंच होगी. इसमें स्वास्थ्य और तंदुरुस्ती की स्क्रीनिंग, एंसेस्ट्री टेस्टिंग (वंशावली टेस्ट) शामिल होगी.

DNA स्टडी पर आधारित होगी जांच (प्रतीकात्मक फोटो)

हैदराबाद, 26 जून 2020, अपडेटेड 19:14 IST

  • जीनोमिक्स आधारित होगी हेल्थकेयर सुविधा
  • अपोलो क्लीनिक ने ‘मैप-माई-जीनोम’ से मिलाया हाथ

हेल्थकेयर सुविधाएं उपलब्ध कराने वाली चेन अपोलो क्लीनिक ने अनोखा कदम उठाया है. इस चेन ने हैदराबाद स्थित मैप-माई-जीनोम (Mapmygenome) के साथ हाथ मिलाकर देश में अपने सेंटर्स पर जीनोमिक्स आधारित हेल्थकेयर लॉन्च करने की तैयारी की है.

अब देश में पहली बार मरीजों का DNA-आधारित टेस्ट तक सीधी पहुंच होगी. इसमें स्वास्थ्य और तंदुरुस्ती की स्क्रीनिंग, एंसेस्ट्री टेस्टिंग (वंशावली टेस्ट) शामिल होगी.

बता दें, जीनोमिक्स आनुवांशिकी (जेनिटिक्स) की वो शाखा है जिसमें जीवों के जीनोम्स (उनका पूरा DNA क्रम) की स्टडी की जाती है.

मैप-माई-जीनोम की ‘जीनोमपत्री’ एक मास्टर हेल्थ टेस्ट होगी, जिसमें लाइफस्टाइल से जुड़ी बीमारियों, फिजियोलॉजिकल लक्षण, दवाओं के रिस्पॉन्स और कैरियर स्टेट्स को लेकर 100+ रिपोर्ट होंगी.

रोकथाम वाली स्क्रीनिंग के लिए व्यापक आनुवांशिकी (जेनेटिक्स) के मूल्यांकन के लिए मैप-माई-जीनोम का यह फ्लैगशिप प्रोडक्ट है.

जीनोमपात्री के साथ हृदय की सेहत, मेटाबॉलिज्म संबंधी परेशानी, कैंसर का खतरा (15 अलग-अलग प्रकार के कैंसर) और दवा की प्रतिक्रिया (15 आमतौर पर निर्धारित स्टैटिन्स, बीटा ब्लॉकर्स, ब्लड थिनर्स और एंटी डायबिटीक एजेंट्स) जैसी रिपोर्टस आती है.

इसके साथ स्वास्थ्य जोखिमों का आनुवांशिक जोखिम मूल्यांकन भी शामिल है जो COVID गंभीरता और इम्यूनिटी को प्रभावित करता है.

कंपनी का दावा है कि 10,000+ नमूनों के एक डेटाबेस के साथ, जीनोमपात्री हेरिटेज पहला DNA एंसेस्ट्री टेस्ट है जो भारतीय आबादी के लिए जातीयता मैपिंग प्रदान करता है.

टेस्ट मैप-माई-जीनोम की ओर से संचालित हैं, और प्रोडक्ट्स 20 साल की जीनोमिक रिसर्च और भारतीयों समेत हजारों सैम्पल्स के सत्यापन से समर्थित हैं.

टेस्ट को मरीजों के बक्कल स्वाब (गैर-संक्रामक) या ब्लड सैम्पल्स पर किया जा सकता है.

इस सहयोग के बारे में, अपोलो क्लिनिक के COO, आनंद वासेकर ने कहा, “बोर्ड पर मैप-माई-जीनोम को साथ लेकर, अपोलो क्लिनिक ने प्रीवेंटिव हेल्थकेयर के लिए एक नया आयाम जोड़ा है.” प्राइवेट हेल्थकेयर ग्रुप की ओर से मरीजों को बेहतर जीवन गुणवत्ता प्रदान करने का वादा किया गया.

Originally published: aajtak.intoday.in

Disclaimer: The information provided here is not exhaustive by any means. Always consult your doctor or other qualified healthcare provider with any questions you may have regarding a medical condition, procedure, or treatment, whether it is a prescription medication, over-the-counter drug, vitamin, supplement, or herbal alternative.